दिल्ली

इतने भीषण हादसे में कैसे बची ऋषभ पंत की जान

Spread the love

इतने भीषण हादसे में कैसे बची ऋषभ पंत की जान

Rishabh Pant Accident :  टीम इंडिया के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत शुक्रवार सुबह एक बड़े हादसे में बुरी तरह से घायल हो गए। एक्सीडेंट के बाद कुछ फोटो और वीडियो सामने आए हैं, जो किसी को भी एक बार देखने के बाद डरा सकते हैं। ऋषभ पंत का जिस कार से एक्सीडेंट हुआ है, उसकी हालत खुद ही बयां कर रही है कि हादसा कितना जबरदस्त था। हालांकि अच्छी बात ये है कि ऋषभ पंत बच गए और अब खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। एक्सीडेंट के वक्त का एक सीसीटीवी वीडियो भी सामने आया है, जिसमें दिख रहा है कि पंत की कार एक्सीडेंट में रॉकेट की स्पीड से डिवाइडर से टकराई और कुछ ही सेकेंड में आग का गोला बन गई। बताया जा रहा है कि जिस जगह हादसा हुआ, उसके बाद करीब 100 मीटर दूर जाकर कार गिरी।

अब कैसी है ऋषभ पंत की हालत 
इतने बड़े हादसे के बाद भी ऋषभ पंत अब ठीक बताए जा रहे हैं। पंत का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उनके माथे पर चोटें आई हैं, साथ ही घुटने में लिगामेंट इंजरी है। अब से कुछ ही देर पहले पंत की कुछ फोटो सामने आई थी, जिसमें पीठ पर कुछ बड़े बड़े काले निशान हैं। पहले ये माना जा रहा था कि ये निशान जलने के हैं, लेकिन अब डाक्टरों का कहना है कि ये जलने के निशान नहीं हैं, बल्कि जब हादसा हुआ, उसी वक्त ऋषभ पंत गाड़ी का शीशा तोड़कर बाहर निकले और वहीं पर गिर गए। उनकी चोटों के निशान उनकी पीठ पर आ गए हैं। हादसा अलसुबह करीब साढ़े पांच बजे का बताया जा रहा है।

बीसीसीआई की ओर से भी आया बयान 
ऋषभ पंत जैसे ही हादसे का शिकार हुए, तुरंत उनके दिमाग ने काम किया और आनन फानन में उन्होंने गाड़ी का शीशा तोड़ा और बाहर निकल आए। ऋषभ पंत एक विकेट कीपर बल्लेबाज हैं, इसलिए उन्हें हर वक्त मैदान पर अलर्ट रहना होता है। यही अलर्टनेस उनकी इस हादसे में भी काम आई और इससे पहले कि पूरी कार जलती वे बाहर आ गए थे। इस बीच बीसीसीआई सचिव जय शाह की ओर से एक बयान सामने आया है। उनका कहना है कि मेरी प्रार्थना ऋषभ पंत के साथ है। उनका कहना है कि उनकी ऋषभ पंत के परिवार और इलाज कर रहे डॉक्टरों से बात हुई है। उनकी हालत फिलहाल स्थिर है। जय शाह ने ये भी कहा है कि हम उनकी हालत पर नजर रखे हुए हैं। उन्हें हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *