दिल्ली

कोरोना के बढ़ते मामलों से पांच राज्‍यों में बिगड़े हालात, इन राज्‍यों में लगा नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन, जानें कहां बंद हुए स्‍कूल

Spread the love

कोरोना के बढ़ते मामलों से पांच राज्‍यों में बिगड़े हालात, इन राज्‍यों में लगा नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन, जानें कहां बंद हुए स्‍कूल

कोरोना के बढ़ते मामलों से पांच राज्‍यों में बिगड़े हालात, इन राज्‍यों में लगा नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन, जानें कहां बंद हुए स्‍कूलपांच राज्यों ने उसे बेकाबू कर दिया है

मंत्रालय के मुताबिक सक्रिय मामलों में पिछले 12 दिनों से लगातार वृद्धि हो रही है। वर्तमान में इनकी संख्या 334646 हैं जो कुल मामलों का 2.87 फीसद है। 12 फरवरी को सक्रिय मामलों का आंकड़ा 135926 तक आ गया था जो कुल मामलों का 1.25 फीसद था।
अस्मितभारत नई दिल्ली। जेएनएन। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ठीक एक साल पहले यानी 22 मार्च, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर लोगों ने ‘जनता कर्फ्यू’ का पालन करते हुए घर से बाहर कदम नहीं रखे थे। एक साल बाद हालात फिर खतरनाक रूप लेते जा रहे हैं। पिछले दो दिनों में ही करीब 91 हजार नए मामले बढ़ गए हैं और एक हफ्ते की बात करें तो इसमें ढाई लाख की वृद्धि हुई है। एक समय ऐसा लग रहा था कि भारत ने संक्रमण को काबू में कर लिया है, पांच राज्यों ने उसे बेकाबू कर दिया है। इन राज्यों में महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और मध्य प्रदेश शामिल हैं, जहां से कुल 80.5 फीसद नए मामले हैं। इन राज्यों में स्थिति गंभीर होती जा रही है।

राजस्‍थान के 8 शहरों में नाइट कर्फ्यू

सी.आर.एम क्या है? इसका प्रयोग क्यों करें? सेल्सफोर्स सी.आर.एम् के प्रयोग से कंपनियों की बिक्री में 38% वृद्धि हुई है। जानें कैसे।
सी.आर.एम क्या है? इसका प्रयोग क्यों करें? सेल्सफोर्स सी.आर.एम् के प्रयोग से कंपनियों की बिक्री में 38% वृद्धि हुई है। जानें कैसे।

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राजस्थान के आठ शहरों- अजमेर, भीलवाड़ा, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा और कुशलगढ़ में रात 11 बजे से सुबह 5 तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। राजस्थान सरकार के फैसले के मुताबिक, शहरी क्षेत्रों में रात 10 बजे के बाद बाजार नहीं खुलेंगे। इसके साथ ही बाहर से शहर आए यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना अनिवार्य रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *